एक कॉल की दास्तान:बिजली विभाग का एसडीओ ने महिला से 7 लाख का चूना लगाया

Cyber Crime News

एक कॉल की दास्तान:बिजली विभाग का एसडीओ ने महिला से 7 लाख का चूना लगाया
जमुई, बिहार में हुए एक साइबर फ्रॉड के मामले में एक महिला ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। इस मामले के अनुसार, बिजली विभाग के नाम पर बनाए गए एक फर्जी एसडीओ ने इस महिला के बैंक खाते से लगभग 7 लाख रुपये चुराए हैं। महिला ने इस साइबर ठगी के खिलाफ जमुई साइबर थाना में शिकायत दर्ज करते हुए पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने बताया है कि उन्होंने मामले की जांच शुरू कर दी है और जल्दी ही आरोपीयों को गिरफ्तार करने की कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

लक्ष्मीपुर प्रखंड, बिहार में हुए एक चौंकाने वाले साइबर फ्रॉड मामले में महिला गुलाबी कुमारी ने बताया है कि उसके पति अरुण कुमार तांती को एक नंबर से कॉल आया था। अज्ञात नंबर से आये कॉल पर उसके पति को बताया गया कि वे बिजली विभाग के एसडीओ हैं और उन्होंने दावा किया कि उनके बिजली बिल की अपडेट नहीं हुई है और उनकी बिजली काट दी जाएगी

दो बैंक खातों से 6 लाख 88 हजार रुपये की ठगी

इसके बाद, फर्जी बिजली विभाग के एसडीओ ने कहा कि 10 रुपया का रिचार्ज करने के बाद बिजली बिल अपडेट हो जाएगा। महिला ने सुविधा एप के माध्यम से 10 रुपया का रिचार्ज कराया और एक लिंक भेजा गया, जिससे एनीडेस्क ऐप का कोड डाउनलोड किया गया। फिर, उसने अपने पति से 10 अंकों का कोड लेकर दिया। इसके तुरंत बाद, 6 लाख 88 हजार रुपये उसके दो बैंक खातों से निकाल लिए गए।

ये भी पढ़ेंःएक फोन कॉल, एक गलती और गंवा दी जिंदगी भर की कमाई, हमेशा रखें एक सख्त बात का ख्याल

18 एफआईआर  में पांच गिरफ्तार

जमुई पुलिस ने बताया है कि साइबर थाना में अब तक 18 एफआईआर दर्ज किए गए हैं, और इन मामलों में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही, साइबर थाना की पुलिस ने 15 मोबाइल, 3 लैपटॉप, 19 एटीएम, 2 पैन कार्ड, 5 पासबुक, और 14 चेकबुक सहित कई आइटम्स की बरात किया है। इसके अलावा, 20500 रुपये शिकायतकर्ता के खाता में वापस कर दिए गए हैं।

वेबसाइट बनवाएं मात्र 5999 रुपये में Call 9560150453    

ये भी पढ़ेंःHardik Pandya Fitness: हार्दिक पंड्या से मुंबई की कैप्टेंसी छीनी जा सकती है जाने क्यू ?

साइबर थाना के इंस्पेक्टर संजीव कुमार सिंह ने बताया कि पीड़िता के शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है, और मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने आम लोगों से अपील की है कि साइबर ठगी से बचने के लिए किसी भी तरह की ओटीपी या बैंक खाता जानकारी किसी अनजान व्यक्ति से साझा ना करें। सरकार और जमुई पुलिस द्वारा भी लगातार जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है

ये भी पढ़ेंःसरकार ने सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स पर लगाई प्रतिबंध, हटाने के लिए दिए आदेश

 

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें

Sharing Is Caring: