राज्य कर्मचारी का दर्जा के बाद बिहार के शिक्षकों की सैलरी कितनी मिलेगी

Bihar Teacher Salary:राज्यकर्मी के दर्जे के बाद बिहार के शिक्षकों की सैलरी कितनी मिलेगी

Bihar Teacher Salary राज्य कर्मचारी का दर्जा प्राप्त करने के बाद, बिहार में चार लाख नियुक्त शिक्षकों को अब बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) के माध्यम से पुनः स्थापित शिक्षकों की तरह सुविधाओं और वेतन का आनंद लेने का सुयोग होगा। इस निर्णय को मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अध्यक्षता में हुई महत्वपूर्ण कैबिनेट बैठक में मंजूरी प्राप्त हुई। इन नियुक्त शिक्षकों को अब ‘विशेषज्ञ शिक्षक’ कहा जाएगा और उन्हें बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) के माध्यम से पुनः स्थापित शिक्षकों की तरह सुविधाएं और वेतनमान मिलेगा। राज्य सरकार इन नियुक्त शिक्षकों के लिए चयनित एजेंसी के माध्यम से क्षमता परीक्षा आयोजित करेगी। उम्मीदवारों को परीक्षा में सफल होने के लिए तीन प्रयास मिलेंगे, और जो तीसरे प्रयास में असफल रहेंगे, उन्हें सेवा से हटा दिया जाएगा।

एक से पांचवीं तक के शिक्षकों का वेतन

बिहार में राज्य कर्मचारी का दर्जा प्राप्त करने के बाद, शिक्षकों का मूल वेतन बदल जाएगा। कक्षा एक से पांचवीं तक के शिक्षकों को 25 हजार मूल वेतन मिलेगा, जो की बीपीएससी से बहाल 1 से पांचवीं कक्षा तक के शिक्षकों को मिलने वाले मूल वेतन के समान है। नियोजित शिक्षकों को भी इसी मूल वेतन का लाभ मिलेगा। इसमें 42 प्रतिशत डीए भी शामिल होगा, जो लगभग 10 हजार 500 होगा। इसके अलावा, राज्य कर्मचारी बने शिक्षकों को 8 फीसदी आवासीय भत्ता भी मिलेगा, जो मूल वेतन के हिसाब से 2 हजार रुपये होगा। इस वेतन में सीटीए भी जोड़ा जाएगा, जो लगभग 2 हजार रुपये तक होगा। इसके साथ ही, मेडिकल फंड के लिए एक हजार रुपये और पेंशन फंड के लिए लगभग 3 हजार 500 रुपये भी दिए जाएंगे। इस प्रकार, एक से पांचवीं तक के नियोजित शिक्षकों का कुल वेतन 44 हजार 130 रुपये होगा, जिसमें कटौती के बाद लगभग 40 हजार तक वेतन के रूप में मिलेगा।

Read More : UP के Sameer Rizvi सीएसके के लिए खरीदे जाने वाले खिलाड़ी का दिलचस्प कहानी

9वीं, 10वीं के शिक्षकों का वेतन

बिहार में 9वीं और 10वीं कक्षा के शिक्षकों को राज्य कर्मचारी के रूप में तैनात होने पर मूल वेतन 31 हजार रुपये होगा, जिसमें महंगाई भत्‍ते के रूप में लगभग 13 हजार रुपये तक शामिल होंगे। इसके साथ ही, आवासीय भत्‍ता के रूप में 2 हजार 480 रुपये तक का भुगतान किया जाएगा। सीटीए के रूप में 2 हजार रुपये मिलेंगे। मेडिकल फंड के रूप में एक हजार रुपये और पेंशन फंड में 4 हजार 330 रुपये जमा होंगे। इस प्रकार, सभी आवंछित अंशों को जोड़ने पर पूरा मिलेगा लगभग 53 हजार रुपये, जिसमें कटौती के बाद लगभग 49 हजार 630 रुपये बचेंगे।

यह भी पढ़ें

KK Pathak ने शिक्षकों पर गिराया पहाड़ जैसा नया आदेश अब स्कूली बच्चों पर फोकस

इसी तरह, राज्य कर्मचारी का दर्जा प्राप्त करने के बाद कक्षा 11 और 12 के नियोजित शिक्षकों का मूल वेतन लगभग 32 हजार रुपये होगा, जिसमें महंगाई भत्‍ते के रूप में लगभग 13 हजार रुपये होंगे। साथ ही, आवासीय भत्‍ता के रूप में दो हजार रुपये का भुगतान होगा और सीटीए के रूप में 2 हजार रुपये मिलेंगे। मेडिकल फंड में एक हजार रुपये होंगे। इस प्रकार, सबकुछ को जोड़कर शिक्षकों को मिलेगी सैलरी, जिसका कुल योग लगभग 51 हजार 1130 रुपये होगा।

Buy Now:Online Chicken Home  Delivery

 

Sharing Is Caring:

Leave a Comment