सरकार ने सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स पर लगाई प्रतिबंध, हटाने के लिए दिए आदेश

सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स पर लगाई प्रतिबंध

सरकार ने अवैध सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स के खिलाफ एक महत्वपूर्ण फैसला किया है। इन ऐप्स को बैन करने का निर्देश मंगलवार को मिनिस्ट्री द्वारा जारी किया गया है। केंद्रीय IT मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने बताया कि सरकार फर्जी लोन ऐप्स के विज्ञापनों को रोकने का कड़ा प्रबंधन कर रही है। इसके साथ ही, वह बताए हैं कि कई प्लेटफॉर्म्स पर इस तरह के अवैध लोन्स ऐप्स के ऐड देखे जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें :कौन है डॉक्टर सवीरा प्रकाश जो पाकिस्तान में पहली बार हिन्दू महिला विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार बनेगी

यह भी पढ़ें :राज्य कर्मचारी का दर्जा के बाद बिहार के शिक्षकों की सैलरी कितनी मिलेगी

मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से मिलकर बैंकों के लिए KYC प्रक्रिया को और व्यापक बनाने की सिफारिश की है। इस प्रस्तावित KYC प्रॉसेस को ‘नो योर डिजिटल फाइनेंस ऐप’ (KYDFA) का नाम दिया गया है।

वेबसाइट बनवाएं मात्र 5999 रुपये में Call 9560150453    

लगतार फैल रहा जाल

हाल कुछ समय से, सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स  का शिकार होने वाले मामले में भारत में बड़ी वृद्धि हुई है। इन ऐप्स के जाल में फंसने वाले लोग न केवल कर्ज के गहरे दलदल में पड़ जाते हैं, बल्कि कई मामलों में पीड़ितों ने इसका सामना करते हुए आत्महत्या भी कर ली है। इस चिंता के माहौल में, सरकार ने इस तरह के सभी ऐप्स को बैन करने का निर्णय किया है, ताकि लोगों को इस प्रकार के धारा क्षेत्र से सुरक्षित रखा जा सके।

यह भी पढ़ें :How to go ram mandir ayodhya -how to reach ayodhya

कैस फंसते हैं लोग?

इन सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स को डाउनलोड करने के बाद, यूज़र्स की सभी फोटोज़ और संपर्क विवरणों का एक्सेस लोन प्रवाइडर को हो जाता है। इसके बाद, लोन रिकवरी के नाम पर, इन ऐप्स द्वारा उनके साथ एक असली खेल शुरू होता है। ये फर्जी ऐप्स लगातार पीड़ितों पर दबाव बनाते हैं ताकि वे जल्द से जल्द लोन भरें। अक्सर, उनकी फोटोज़ को मॉर्फ करके और इसे वायरल करने की धमकी दी जाती है।

Buy Online Mutton 

फर्जी लोन प्रोवाइडर्स पीड़ित के फोन से लिए गए तमाम कॉन्टैक्ट्स को संपर्क करके भी धमकी देते हैं। यूज़र्स, अपनी बदनामी के डर से लोन भरने के लिए नया लोन लेते हैं, जिससे वे लोन के जाल में फंस जाते हैं। सरकार लगातार इन तरह के सट्टेबाजी और फर्जी लोन ऐप्स पर रोक लगाने की कोशिश कर रही है।

 

 

Sharing Is Caring:

Leave a Comment