राहुल गांधी ने क्यों कहा, मैं राम मंदिर नहीं जाऊंगा?

अयोध्या राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा से कांग्रेस के दूरी बनाने पर राहुल गांधी का बयान आया है।

राहुल गांधी ने कहा कि यह आरएसएस और भाजपा का राजनीतिक कार्यक्रम है।

इसीलिए कांग्रेस अध्यक्ष ने इस आयोजन में न जाने का फैसला लिया है

मणिपुर के कोहिमा में राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस सभी धर्मों को एक समान सम्मान देती है।

हिंदू धर्म के शीर्ष धर्माचार्यों ने भी इस आयोजन को लेकर सवाल उठाए हैं।

राहुल गांधी ने यह भी कहा कि हमारी स्पष्ट राय है कि राम मंदिर जो भी जाना चाहता है, वह जा सकता है। कांग्रेस पार्टी का भी कोई शख्स जा सकता है।

कांग्रेस पार्टी का भी कोई शख्स जा सकता है।

लेकिन हम 22 जनवरी को जाएं, यह जरूरी नहीं है। उन्होंने कहा कि यह फंक्शन राजनीतिक बन गया है।

इस आयोजन को भाजपा ने चुनावी रंग दे दिया है।